International Market

What is company? definition and meaning (कम्पनी क्या होती है ?)

कम्पनी क्या होती है ? :

कम्पनी ‘ एक प्रकार का व्यापारी संगठन होती है । कुछ लोग , जिन्हें ‘ शेयरहोल्डर ‘ कहा जाता है , किसी व्यापार के संचालन के लिए कम्पनी का गठन करते हैं । कम्पनी का कारोबार चलाने के लिए एक बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ‘ को नियुक्त किया जाता है , जो आमतौर पर शेयरहोल्डरों के चुने हुए प्रतिनिधि होते हैं ।

कारोबार शुरू करने और उसे चालू रखने के लिए जो मूलधन लगाया जाता है उसे ‘ कैपिटल ‘ कहते हैं । शुरूआती कैपिटल शेयरहोल्डरों से लिया जाता है , क्योंकि वे कम्पनी के साझे मालिक होते हैं । शेयरहोल्डरों से मिले इस धन को ‘ इक्विटी कैपिटल ‘ कहते हैं । कम्पनियाँ बैंकों , अन्य आर्थिक संस्थानों तथा जनता से पैसा उधार लेकर भी कैपिटल का प्रबन्ध करती हैं । जनता से पैसा या तो ‘ फिक्स्ड डिपॉजिट ‘ के जरिये लिया जाता है , या डिबेन्चर ( ऋणपत्र ) की बिक्री के जरिये । डिबेन्चर खरीदने वाले निवेशक को ‘ डिबेन्चर – होल्डर ‘ कहा जाता है । कम्पनी इन लोगों की कर्जदार होती है – अर्थात ,कम्पनी इनका पैसा चुकाने के लिए बाध्य होती है । वहीं दूसरी ओर शेयरहोल्डर कम्पनी के मालिक होते हैं ।

कम्पनियाँ दो प्रकार की होती हैं –

  1. पब्लिक लिमिटेड
  2. प्राईवेट लिमिटेड कम्पनियाँ

प्राईवेट लिमिटेड कम्पनियों के लिए अपने नाम के आगे ये दो शब्द लगाना अनिवार्य होता है । पब्लिक लिमिटेड कम्पनियाँ अपने नाम के आगे केवल ‘ लिमिटेड ‘ लगाती है ।

जब हम शेयरों में निवेश की बात करते हैं तो हमारा संदर्भ कैवल पब्लिक लिमिटेड कम्पनियों से होता है । प्राईवेट लिमिटेड कम्पनियों के शेयर बाजार के जरिए खरीदे या बेचे नहीं जाते हैं । इन कम्पनियों को अपने शेयर जनता में बेचने की अनुमति नहीं होती ।

source:(s s grawal)

share market,sensex,nifty 50,intraday,delivery,bse,nse,sebi

ALSO READ : What Is Company(कम्पनी क्या होती है ?)

 

Leave a Reply

Click To Get Daily Stock